ईरान के सर्वोच्च नेता ने देश के भंग सैन्य परमाणु कार्यक्रम से जुड़े एक वैज्ञानिक (Mohsen Fakhrizadeh) की हत्या के लिए जिम्मेदार लोगों के लिए शनिवार को ‘सुनिश्चित दंड’ का आह्वान किया. ईरान ने इस कत्ल के लिए इजराइल को जिम्मेदार ठहराया है.

इजराइल ने शुक्रवार को की गयी वैज्ञानिक मोहसिन फखरीजादा की हत्या के विषय पर अबतक कोई टिप्पणी नहीं की है. ईरान के परमाणु कार्यक्रम को लेकर तनाव के बीच वैज्ञानिकों की हत्या पर शक की सुई इजराइल पर उठती रही है.

मोहसिन पर जिस तरह से हमला किा गया वह बड़ी सावधानी से योजना बनाकर सैनिकों द्वारा घात लगाकर किया गया हमला जान पड़ता है.

इस हत्या से अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के आखिरी दिनों में अमेरिका एवं ईरान के बीच तनाव फिर से बढ़ने की आशंका है. अमेरिका के नव निर्वाचित राष्ट्रपति जो बाइडन कह चुके हैं कि उनका प्रशासन दुनिया की अन्य ताकतों के संग तेहरान के परमाणु करार पर लौट सकता है जिससे ट्रंप प्रशासन हट गया था.

पेंटागन ने शनिवार को घोषणा की थी उसने पश्चिम एशिया में यूएसएस निमित्ज विमानवाहक पोत को वापस भेजा है. एक बयान में ईरान के सर्वोच्च नेता आयतुल्ला अली खामेनी ने फखरीजादा को ‘देश का प्रमुख एवं प्रतिष्ठित परमाणु एवं रक्षा वैज्ञानिक’ बताया.

खामेनी ने कहा कि इस हत्या के बाद ईरान की प्राथमिकता ‘‘गुनाहगारों और उन लोगों को सुनिश्चित दंड देने की है जिन्होंने इसका आदेश दिया.’’ उन्होंने उसका ब्योरा नहीं दिया.

इससे पहले राष्ट्रपति हसन रूहानी ने कोरोना वायरस पर सरकार के कार्यबल के साथ एक बैठक में इस हत्या के लिए इजराइल को जिम्मेदार ठहराया.