Post office profit schemes: पोस्ट ऑफिस (Post Office) में इन्वेस्टमेंट (Investment) को लोग बहुत पसंद करते हैं. इसका एक ये भी कारण है कि इसमें अच्छे रिटर्न (Return) के साथ आपकी रकम की सिक्योरिटी की पूरी गारंटी रहती है. यहां इन्वेस्टमेंट में कोई जोखिम नहीं रहता है. पोस्ट ऑफिस की स्कीमों की ब्याज दरें हर तिमाही तय होती है. यदि आपने अभी तक पोस्ट ऑफिस की किसी सेविंग स्कीम (saving scheme) में इन्वेस्टमेंट नहीं किया है तो इन 3 स्कीम के बारे में जानकर आप भी अपने जीवन को आसानी से सिक्योर कर सकते हैं.

यह भी पढ़ें: Post Office में रोजाना 100 रुपये से कम के निवेश, आपको बना सकता है लखपति!

1.नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट (National Saving Certificate)

नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट केंद्र सरकार द्वारा समर्थित स्कीम है. ये पांच वर्ष के लॉक-इन पीरियड के साथ आती है. इसमें ब्याज प्रत्येक वर्ष चक्रवृद्धि होता है. लेकिन ग्राहक को इसका भुगतान मैच्योरिटी पर ही होता है. आपकी जानकारी के लिए नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट लोकप्रिय पोस्ट ऑफिस सेविंग योजनाओं (Post Office Saving Scheme) में से एक है. यह योजना धारा 80 सी के तहत टैक्स फायदे के साथ गारंटीड रिटर्न भी प्रदान करती है.

यह भी पढ़ें: Post Office: डाकघर की शानदार सुविधा, अब घर बैठे उठा सकेंगे योजनाओं का लाभ!

2.सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम (Senior Citizen Saving Scheme)

पोस्ट ऑफिस की सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम (Senior Citizen Saving Scheme) लाभकारी योजना है. इस योजना के तहत व्यक्ति को 7.4 प्रतिशत की दर से ब्याज मिलता है. इस योजना का मैच्योरिटी पीरियड 5 साल तक का होता है. एक और बात बता दें इस योजना में आपको 5 साल तक अपने पैसों का निवेश करना होता है. 

यह भी पढ़ें: Post Office MIS: पोस्ट ऑफिस में जमा कर दें एकमुश्त पैसा, इस स्कीम के तहत हर महीने होगी बंपर कमाई!

आपको इस योजना में एक बार में ही सारे पैसे डालने होते हैं. इस योजना में निवेश करने पर आप इनकम टैक्स के 80 सी नियम के तहत टैक्स में छूट भी पा सकते हैं. स्कीम में कम से कम 1,000 और अधिकतम 15 लाख रुपये का निवेश कर सकते हैं. इसमें 5 साल तक के लिए निवेश हो सकता है.

यह भी पढ़ें: Post Office Scheme: कम निवेश में करनी है बंपर कमाई, तो ऐसे खोले पोस्ट ऑफिस

3.सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Accounts )

सुकन्या समृद्धि योजना के एक शानदार स्कीम है, जिसमें आप अपनी छोटी बेटी के लिए इन्वेस्टमेंट करके मोटा फंड तैयार कर सकते हैं. ये स्कीम निवेशक को 7.6 प्रतिशत का ब्याज दर देती है. बता दें कि इस योजना में आप तीन महीने की बच्ची से लेकर 10 साल तक की बेटी के लिए अकाउंट खुलवा सकते हैं. इसमें आप प्रत्येक वर्ष कम से कम 250 रुपये और अधिकतम 1,50,000 रुपये तक का इन्वेस्टमेंट कर सकते हैं.इसमें निवेश करने पर आपको आयकर विभाग की की धारा 80सी के तहत छूट भी मिलती है. वहीं बच्ची के 21 वर्ष के होने के बाद आपअकाउंट से पूरी रकम का निवेश कर सकते हैं.