Subsidy on organic farming: आज के समय में केमिकल युक्त खेती से जमीन की उत्पादकता से लेकर लोगों की हेल्थ तक बुरा प्रभाव पड़ रहा है. फसलों में रासायनिक कीटनाशकों के कारण से कैंसर जैसी बीमारियां आम हो गई हैं. इस बीच जैविक खेती (Organic Farming) का एक ऑप्शन सामने आया है.

यह भी पढ़ें: किसान पलाश के फूल की खेती से कमाएं 40 वर्षों तक मुनाफा, जानें तरीका

जैविक खेती करने पर मिलती है सब्सिडी

जैविक खेती की ओर किसान (Farmer) तेजी से बढ़ रहे हैं. जैविक खेती को बढ़ाने के लिए कई प्रकार की योजनाएं भी लॉन्च की जाती है. कई राज्यों में किसानों को जैविक खेती करने के लिए सब्सिडी (Subsidy) दी जाती है. उत्कृष्ट तरह से ऑर्गेनिक फार्मिंग करने वाले किसानों को पुरस्कार दिया जाता है. इसके अतरिक्त सरकार की ओर से किसानो के बीच जैविक खेती को लेकर कई प्रकार के ट्रेनिंग प्रोग्राम भी चलाए जाते हैं.

यह भी पढ़ें: सितंबर के महीने में किसान करें इन 4 सब्जियों की खेती, होगा बढ़िया मुनाफा

मध्य प्रदेश सरकार ने हाल ही में ‘मध्य प्रदेश प्राकृतिक कृषि विकास योजना’ नाम से एक योजना जारी की है. इस योजना के द्वारा किसानों को जैविक खेती करने के लिए 10,800 रुपये की मदद दी जाएगी. आपको इस योजना की शर्त भी बता दें कि ये किसान पशुपालन भी करते हों. पशुपालन नहीं करने वाले किसान इस योजना का लाभ नहीं ले पाएंगे.

यह भी पढ़ें: जैतून की खेती से किसान कमाएं बढ़िया मुनाफा, जानें जरूरी बातें

आजतक न्यूज़ रिपोर्ट के मुताबिक, इस योजना में हर 5 लाभार्थी किसानों को चुना जाएगा और उन्हें गौ आधारित खेती करने की ट्रेनिंग भी दी जायेगी. मध्यप्रदेश में केवल 52 जिले हैं, जिसमें 5200 गांव और इन गांवों में लगभग 26,000 किसान हैं, जिन्हें इस योजना में शामिल किया जाएगा.

यह भी पढ़ें: सूरजमुखी की खेती से किसान होंगे मालामाल! जानें तरीका

हर महीने कितने रुपये मिलेंगे

‘मध्य प्रदेश प्राकृतिक कृषि विकास योजना’ के द्वारा कम से कम एक एकड़ में प्राकृतिक खेती के साथ-साथ पशुपालन और गौ पालन करने वाले किसानों को प्रति गाय 900 रुपए प्रति महीने सब्सिडी दी जाएगी. यानी एक गाय का भी पालन करने वाला किसान एक वर्ष में 10,800 रुपये का लाभ लेने का पात्र होगा.