आज के समय में अधिक लोगों के पास शॉपिंग (Shopping)करने तक का समय नहीं होता. तो वह ऐसे में समय की बचत करने के लिए ऑनलाइन शॉपिंग करते हैं. कोरोना महामारी के कारण लगाए गए लॉकडाउन (lockdown) के दौरान लोगों में ऑनलाइन शॉपिंग का क्रेज अधिक बढ़ा हैं. ऑनलाइन शॉपिंग से लोगों को कई तरह की आसानी हुई हैं. इससे लोग घर बैठे ही अपने पसंद की चीजे मंगवा सकते हैं. इसकी वजह से लोगों की जिंदगी काफी आसान बन गई है, वहीं फ्रॉड के मामले भी (Online Banking) लगातार सामने आ रहे हैं.

यही भी पढ़ें: LPG Cylinder Subsidy: अगर आपको भी नहीं मिल रही गैस सिलेंडर की सब्सिडी तो घर बैठे करें ये काम

कभी-कभी ऑनलाइन शॉपिंग करते समय किसी चीज का फायदे बहुत हैं तो उसका कोई न कोई नुकसान भी होगा. ऐसा ही ऑनलाइन पेमेंट या ट्रांजेक्शन के साथ है. अगर आप भी ऑनलाइन शॉपिंग करते हैं तो इससे पहले आप पहले इन बातों का जरूर ध्यान रखें. आइए जानते हैं इनके बारे में विस्तार से.

यही भी पढ़ें: IRCTC से करना चाहते हैं Confirm Tatkal Ticket बुक? तो अपनाएं ये आसान ट्रिक

कैश ऑन डिलीवरी करें

ऑनलाइन शॉपिंग में फ्रॉड से बचने के लिए सबसे सरल तरीका हैं.आप कैश ऑन डिलीवरी करें. अगर किसी चीज को बुक करते समय आपको कैश ऑन डिलीवरी कि सुविधा मिल रही हैं तो आप इसी विकल्प को चुने. इसमें पहले सामान आपके पास पहुंच जाता है, उसके बाद आपको कैश पेमेंट करना होता है. ऐसे में थोखाधड़ी का खतरा कम हो जाता है.

गलती से भी न करें ATM कार्ड की डिटेल

दूसरे नंबर पर बात करें तो आप ऑनलाइन शॉपिंग के दौरान अपने एटीएम कार्ड की जानकारी को सेव कर देते हैं ताकि बाद में भी आराम से शॉपिंग की जाए. लेकिन आप शॉपिंग साइट्स पर एटीएम कार्ड की जानकारी सेव न करें.से पहले उस टिक को यस से हटाकर नो कर दें और फिर पेमेंट करें. इससे आपका बैंक खाता पूरी तरह सुरक्षित रहेगा.

यही भी पढ़ें: कहीं हैक तो नहीं हो गया आपका Gmail अकाउंट? इस तरह चेक करें और सावधान रहें

वेबसाइट का जरूर चेक करें URL

ऑनलाइन शॉपिंग के दौरन फ्रॉड के मामलों से बचने के लिए आप वेबसाइट का URL जरूर चेक करें. ध्यान रहें बेवसाइट का यूआरएल HTTP की बजाय HTTPS होना चाहिए. HTTPS का मतलब है कि साइट को गूगल की ओर से सिक्योर्ड है.

यही भी पढ़ें: दिल्ली में लर्निंग लाइसेंस की वैधता 31 मार्च तक बढ़ी, कोरोना के मद्देनजर लिया गया फैसला

रिटर्न पॉलिसी पर भी डालें नजर

जानकारी के लिए बताते चले कि ई-कॉमर्स कंपनी की अपनी एक रिटर्न जरूर पॉलिसी होती है. शॉपिंग के दौरान आपको यह एक बार जरूर पढ़नी चाहिए.कई बार अगर आपके सामान में कोई खराबी आती है तो रिटर्न पॉलिसी पढ़ना आपके लिए काफी हेल्पफुल साबित होता है.

सेल्स से जरा बचकर

कई बार ऑनलाइन शॉपिंग में काफी अच्छी सेल्स होती हैं.यह सेल्स आपको 1 रुपये से 100 रुपये की बीच की सेल होती हैं. इससे आपको लगता हैं कि यह चीज बहुत सस्ते में मिल रही हैं तो उस साइट से सामान बिल्कुल न खरीदें.ऐसी साइट्स आपका डाटा चोरी करती हैं. इसी के साथ ही आपके अकाउंट से पैसे गायब हो जाये हैं.

यही भी पढ़ें: अगर आपका फोन चोरी या गुम हो जाए तो इस तरह डिलीट करें अकाउंट, जानें पूरा प्रोसेस