इंटरनेट की दुनिया में गूगल (Google) एक बहुत बड़ा नाम है. हमे इंटरनेट (Internet) पर कुछ भी सर्च करना होता है तो हम गूगल की सहायत लेते हैं. यह हमे डाटा (Data) जुटाने में काफी मदद करता है और इसमें आपको कुछ ही सेकेंड लगते हैं. लेकिन अब लोग इसे पुरानी तकनीक बता रहे हैं. दरसअल पिछले कुछ दिनों से ChatGPT का नाम बहुत चर्चे में है. कई लोग तो इसे गूगल से भी बेहतर बता रहा हैं और कह रहे हैं की इस नए सॉफ्टवेयर की वजह से गूगल को खतरा हो सकता है. यह सॉफ्टवेयर पूरी तरह से AI पर काम करता है और इंसानों की तरफ से लोगों के सवालों का जवाब देता है.

यह भी पढ़ें: WhatsApp साल 2023 में ला सकता है ये 5 धांसू फीचर, देखें लिस्ट

क्या है ChatGPT

ChatGPT एक जनरेटिव प्री ट्रेन सॉफ्टवेयर है, जो AI सॉफ्टवेयर है. ये सॉफ्टवेयर लोगों के सवालों के जवाब देता है. आप सोच रहे होंगे कि इसमें नया क्या है तो हम आपको बता दें कि यह सॉफ्टवेयर इंसान की तरह सोच-समझकर आपके सवालों का जवाब देता है और आपको ऐसा नहीं लगेगा कि जवाब आपको कोई मशीनी दे रहा है. यह जवाब ठीक वैसा ही होगा जैसा एक आम आदमी देता है. यही वजह है कि इस सॉफ्टवेयर की इतनी चर्चा हो रही है और अभी से लोग चैट जेपीटी को गूगल के टक्कर का सॉफ्टवेयर मान रहे हैं. लगातार लोगों से मिल रहे फीडबैक को देखकर माना जा रहा है कि यह गूगल को पछाड़ देगा.

यह भी पढ़ें: Twitter पर किसे मिल रहा है Golden Tick? जानें ये Blue Tick से कितना अलग है

इन कामों को करने में होगी आसानी

आपको बता दें कि यह सॉफ्टवेयर कुछ नौकरियों के लिए खतरा बन सकता है. दरअसल, यह सॉफ्टवेयर इंसानों की भाषा पूरी तरह से समझता है और इंसानों की तरह प्रतिक्रिया करता है. ऐसे में कॉल सेंटर जॉब और कंटेंट राइटिंग करने वाले लोगों की नौकरी पर संकट आ सकता है.