IPL Records: आईपीएल 2023 में कमाल की पारियां देखने को मिली हैं. इस साल ऑरेंज कैप की रेस शानदार रही है. इस साल (IPL Records) शुभमन गिल ने शानदार बल्लेबाजी करते हुए ऑरेंज कैप अपने नाम की है. उन्होंने अब तक 16 मैचों में 851 रन बनाए हैं. इस साल शुभमन गिल अपने नाम ऑरेंज कैप कर लेंगे. ऐसा बहुत कम देखा गया है जब किसी भारतीय खिलाड़ी ने ऑरेंज कैप जीती हो. आइए जानते हैं उन भारतीय खिलाड़ियों के बारे में जिन्होंने ऑरेंज कैप हासिल की है.

यह भी पढ़ें: WTC Final 2023 Prize Money: आईसीसी ने किया ऐलान, WTC Final 2023 जीतने वाली टीम पर होगी पैसों की बारिश

1. सचिन तेंदुलकर (IPL 2010): क्रिकेट के रिकॉर्ड की बात करें तो ऐसा नहीं होता है कि उसमें सचिन तेंदुलकर का नाम न हो. अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उनके नाम कई रिकॉर्ड हैं, जो शायद कभी नहीं टूटेंगे, लेकिन आपको बता दें कि सचिन तेंदुलकर इकलौते ऐसे खिलाड़ी हैं, जिन्होंने पहली बार आईपीएल में ऑरेंज कैप हासिल की. साल 2010 में सचिन तेंदुलकर ने मुंबई इंडियंस के लिए 618 रन बनाए थे.

2. रॉबिन उथप्पा (आईपीएल 2014): साल 2014 में आईपीएल का खिताब केकेआर यानी कोलकाता नाइट राइडर्स ने जीता था. उस साल रॉबिन उथप्पा ने सबसे ज्यादा रन बनाकर ऑरेंज कैप हासिल की थी. उस साल उनके बल्ले से 660 रन निकले थे.

यह भी पढ़ें: IPL 2023 Prize Money: आईपीएल जीतने वाली टीम को मिलेंगे करोड़ों रुपये, पीएसएल विजेता से है कई गुना ज्यादा

3. विराट कोहली (IPL 2016): आईपीएल साल 2016 विराट कोहली के लिए शानदार रहा था. उन्होंने उस सीजन में अपने बल्ले से 973 रन बनाए थे. आईपीएल के एक सीजन में विराट ने सबसे ज्यादा रन बनाकर इतिहास रच दिया था और ऑरेंज कैप अपने नाम कर ली थी.

4. केएल राहुल (IPL 2020): केएल राहुल भले ही इस आईपीएल में कमाल नहीं दिखा पाए हों लेकिन उनकी बल्लेबाजी के दम से हर कोई वाकिफ है. साल 2020 के आईपीएल में उनके बल्ले से खूब रन निकले थे. पंजाब किंग्स की कप्तानी करते हुए उन्होंने उस सीजन में 670 रन बनाए और ऑरेंज कैप जीती.

यह भी पढ़ें: IPL Records: आईपीएल इतिहास में आकाश मधवाल ने डाला सर्वश्रेष्ठ बॉलिंग स्पेल, देखें आईपीएल इतिहास की बेस्ट बॉलिंग स्पेल

5. रुतुराज गायकवाड़ (IPL 2021): रुतुराज गायकवाड़ ने चेन्नई सुपर किंग्स के लिए खेलते हुए साल 2021 में सबसे ज्यादा रन बनाकर ऑरेंज कैप अपने नाम किया था. उन्होंने उस सीजन में 635 रन बनाए थे. गायकवाड़ की बल्लेबाजी ने सीएसके को चौथी बार ट्रॉफी जीतने में मदद की थी.