World Hemophilia Day 2023: वर्ल्ड फेडरेशन ऑफ हीमोफिलिया ने 17 अप्रैल को विश्व हीमोफिलिया दिवस शुरू किया. हर साल इसी तारीख को ये दिन मनाते हैं. हीमोफिलिया और दूसरे रक्तस्राव जैसी गंभीर बीमारी को दावत देती है और विश्व हीमोफिलिया दिवस लोगों को इसके प्रति जागरुक करने के लिए मनाया जाता है. ये बीमारी रक्त में थ्राम्बोप्लास्टिन नाम की कमी से होती है और इसमें खून को थक्का बनाने की क्षमता पाई जाती है. खून में इसके ना होने से खून बहना बंद नहीं होता और इंसान की मौत भी हो सकती है इसलिए लोगों को हीमोफिलिया के बारे में जागरुक होना जरूरी है.

यह भी पढ़ेें: High Uric Acid Symptoms: Uric Acid बढ़ने से महिलाओं में दिखते हैं ये लक्षण, हो जाएं सावधान!

विश्व हीमोफीलिया दिवस क्यों मनाया जाता है? (World Hemophilia Day 2023)

17 अप्रैल को वर्ल्ड फेडरेशन ऑफ हीमोफिलिया ने विश्व हीमोफिलिया दिवस मनाने का काम शुरू किया. लोगों को इसके प्रति जागरुक करना बहुत जरूरी होता है. इस दिन को मनाने की शुरुआत 17 अप्रैल को फ्रैंक श्नाबेल के बर्थडे पर की गई थी. वो वर्ल्ड फेडरेशन ऑफ हीमोफिलिया के संस्थापक हुआ करते थे. इस दिन चिकित्सा में बेहतर इलाज के लिए रक्तस्राव विकारों और लॉबी ववालों को शिक्षित करने के लिए मनाते हैं. वर्ल्ड फेडरेशन ने दुनिया भर के लोगों को इस विकार से पीड़ित लोगों के लिए एकजुटता दिखाने के लिए लाल रंग की रोशन से शिक्षित किया है.

विश्व हीमोफिलिया दिवस का महत्व (World Hemophilia Day 2023 Importance)

गंभीर रोगियों में मांसपेशियों, जोड़ों और शरीर के दूसरे हिस्सों में रक्स्राव हो जाता है. यह एक विरासत में मिली हुई बीमारी होती है जो बच्चे को उसके पैरेंट्स से मिल जाती है. इसका जल्दी से पता लगाने से रोगी को बीमारी के बारे में सावधान होने का मौका मिल जाता है. जिन लोगों को गंभीर हीमोफिलिया होता है उनके लिए यह एक सामान्य टक्कर जैसा होता है जो मस्तिष्क में रक्स्राव का कारण बनती है. हालांकि ऐसा बहुत कम होता है लेकिन अगर थोड़ा भी इसका पता चले तो इसके लिए एलर्ट होना जरूरी है. इसके लक्षणों में सिरदर्द, बार-बार उल्टी आना, नींद आना या सुस्ती, दोहरी दृष्टि, अचानक कमजोरी लगना या दौरे जैसी दिक्कत आना होता है. इसलिए हीमोफिलिया की महत्वता को समझें और समस्या होने पर नजदीकी डॉक्टर से संपर्क करें.

यह भी पढ़ें: Uric Acid: यूरिक एसिड से पीड़ित न करें इन 3 सब्जियों का सेवन, वरना लग जाएगी What!