Happy Diwali Images 2023: कार्तिक मास की अमावस्या की रात दिवाली का पर्व मनाया जाता है. हिंदू धर्म में इस दिन को लेकर ढेरों मान्यताएं हैं और इस दिन लोग खुशी मनाते हैं. खुशी इसलिए क्योंकि धार्मिक मान्यता है कि इसी दिन भगवान राम 14 वर्षों के वनवास के बाद अयोध्या वापस आए थे. इस दिन पूरे देश में दिवाली प्रज्जवलित की जाती है और लोग परिवार के साथ इस दिन को मनाते हैं. दिवाली के दिन लोग नये कपड़े पहनते हैं, मिठाई खाते हैं और पटाखे फोड़ते हैं, यही दिवाली का पूरा सार है. लेकिन इन सबके पहले सभी मां लक्ष्मी और भगवान गणेश की पूजा करते हैं, जिनके साथ कुबेर जी और बजरंगबली की भी पूजा होती है. इस दिन आपको अपनों को दिवाली की इमेजेस भेजनी चाहिए.

यह भी पढ़ें: Happy Diwali Wishes 2023: दीपावली की हार्दिक शुभकामनाएं, अपनों को भेजें खुशियों का संदेश

दिवाली पर अपनों को भेजें इमेज (Happy Diwali Images 2023)

Happy Diwali Wishes 2023
दिवाली की हार्दिक शुभकामनाएं. (फोटो साभार: Pixabay)

1.दिवाली की पवित्र रोशनी आपके जीवन
में खुशियां ही खुशियां लेकर आए
आपके पूरे परिवरा को दिवाली की
ढेरों शुभकामनाएं

Happy Diwali Images 2023
दिवाली की हार्दिक शुभकामनाएं. (फोटो साभार: Pixabay)

2.सुख के दीपक जले, घर आंगन में खुशहाली हो
बड़ों का आशीर्वाद और अपनों का प्यार मिले
ऐसी आपकी मंगल वाली दिवाली हो
Happy Diwali to all

Happy Diwali Images 2023
दिवाली की हार्दिक शुभकामनाएं. (फोटो साभार: Pixabay)

3.इस दिवाली में मेरी भगवान से यही कामना है
सफलता आपके कदम चूमे और खुशी
आपके पास हमेशा हो
माता लक्ष्मी की कृपा आपके ऊपर बनी रहे
हैप्पी दिवाली 2023

Happy Diwali Images 2023
दिवाली की हार्दिक शुभकामनाएं. (फोटो साभार: Pixabay)

4.सफलता, सक्सेस की ऊंचाई आपको मिले
इस दिवाली दुख, लालच और कष्ट दूर हो
भगवान राम आपका जीवन खुशी से भर दे
दिवाली के त्योहार की हार्दिक शुभकामनाएं

Happy Diwali Images 2023
दिवाली की हार्दिक शुभकामनाएं. (फोटो साभार: Pixabay)

5.दीयो की रोशनी से, झिलमिलाता आंगन हो
पटाखों की गूंज से आसमान रोशन हो
ऐसी आई झूम के दिवाली कि
हर तरफ खुशियों का मौसम हो
Happy Diwali 2023

Happy Diwali Images 2023
दिवाली की हार्दिक शुभकामनाएं. (फोटो साभार: Pixabay)

क्यों मनाई जाती है दीपावली? (Why Celebrated Diwali Festival)

हिंदू धर्म की मान्यता के अनुसार, रामायण सबसे पवित्र ग्रंथ है और उसमें दिवाली मनाने की वजह विस्तार में बताई गई है. जिसमें लिखा है कि भगवान विष्णु के अवतार श्रीराम को 14 वर्षों का वनवास मिला था. जिसे पूरा करके और रावण का वध करके श्रीराम अयोध्या कार्तिक मास की अमावस्या को लौटे थे. उस दिन अयोध्या के हर घर में दीप जले थे और खुशियां मनाई गई थीं. उस दिन के बाद से हर कार्तिक मास की अमावस्या को दिवाली का त्योहार मनाया जाता है. इसमें लक्ष्मी जी और गणेश जी की भी पूजा की जाती है जिससे लोग धन को आकर्षित कर सकें. दिवाली खुशियों का त्योहार है जिसे परिवार के साथ मनाने में भी मजा आता है.

यह भी पढ़ें: Diwali 2023 Do’s And Don’ts: दिवाली के दिन क्या करें क्या नहीं? यहां जानें डिटेल्स