जानकारी के मुताबिक, गैंगस्टर मन्नू कुस्सा, लॉरेंस और उसके कनाडा में बैठे साथी गोल्डी बराड़ के बहुत करीबी हैं. मन्नू कुस्सा ने मूसावाला को AK47 सबसे पहले मारी थी और जांच में ये बात सामने आई थी. बताया गया था कि मूसेवाला की हत्या के समय रूपा कोरोला कार चला रहा था जबकि साथ वाली सीट पर मन्नु बैठा था और शूट कर रहा था. मन्नू ने AK47 से मूसेवाला को पहले गोली मारी और हत्या करने के बाद दोनों पंजाब में ही घूमते रहे.

यह भी पढ़ें: अमृतसर एनकाउंटर: सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड के दो शूटर ढेर, 3 पुलिसकर्मी घायल

रिपोर्ट्स के मुताबिक, तीनों गैंगस्टर्स अटारी बॉर्डर से 10 किलोमीटर दूर होशियार नगर में छिपे थे. अमृतसर के रास्ते से वे पाकिस्तान भागने वाले थे और इसका पता पंजाब पुलिस को लग चुका था. पता चलने पर उनके और पुलिस के बीच मुठभेड़ हुई और पंजाब पुलिस ने एनकाउंटर कर दिया. इसमें 2 गैंगस्टर की मौत हुई है और बताया गया है कि पुलिस के साथ गैंगस्टर्स के बीच फायरिंग तेज हुई और फिर जगरूप सिंह रूपा और मनप्रीत सिंह उर्फ मन्नू कुस्सा कर दिया गया.

जानकारी के लिए बता दें, शुभदीप सिंह सिद्धू उर्फ सिद्धू मूसेवाला गायक-गीतकार और रैपर होने के अलावा कांग्रेस नेता थे. सिद्धू मूसेवाला की 29 मई को पंजाब के मनसा जिले में उनके गांव मूसा के पास गोली मारकर हत्या कर दी गई थी.