Theme of Independence Day 2023: 15 अगस्त 1947 को हमारा देश आजाद हुआ था. पूरे देश में इस दिन को लोग खुशी और उत्साह के साथ मनाते हैं. देश के लिए अपने प्राण न्यौछावर करने वाले मां भारती के वीर जवानों को याद करते हैं. भारतीय स्वतंत्रता सेनानियों को श्रद्धांजलि दी जाती है. राष्ट्रपति 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर “राष्ट्र के नाम संबोधन” देते हैं. भारत के प्रधानमंत्री पुरानी दिल्ली के लाल किले पर भारतीय ध्वज फहराते हैं और भाषण देते हैं. राज्यों की राजधानियों में ध्वजारोहण समारोह और सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं और अक्सर कई स्कूल और संगठन भाग लेते हैं. कई लोग परिवार के सदस्यों या करीबी दोस्तों के साथ दिन बिताते हैं. आइए जानते हैं इस साल हम कौन सा स्वतंत्रता दिवस मना रहे हैं, 76वां या 77वां और साथ ही जानते हैं इस साल की थीम के बारे में.

यह भी पढ़ें: लोकमान्य बालगंगाधर तिलक के 5 सबसे प्रसिद्ध नारे, जिन्हें हर भारतीयों को अपनाना चाहिए

क्या यह 2023 में मनाया जाने वाला 76वां या 77वां स्वतंत्रता दिवस है?

190 साल के लंबे संघर्ष के बाद 15 अगस्त 1947 को भारत को ब्रिटिश सरकार और उनके क्रूर नियमों से आजादी मिली. और भारत का पहला स्वतंत्रता समारोह 15 अगस्त 1948 को आयोजित किया गया था. इसलिए, तार्किक रूप से, इस वर्ष स्वतंत्रता दिवस की 76वीं वर्षगांठ है. ,

वहीं अगर हम आजादी के साल की गणना ठीक 15 अगस्त 1947 से करें तो इसका मतलब है कि साल 1947 भारतीय आजादी के पहले साल के तौर पर छपा हुआ है. और यही कारण है कि 2023 को 76वें स्वतंत्रता दिवस के रूप में मनाया जाएगा. इस संबंध में दोनों तर्क मान्य हैं, लेकिन बहुमत की सहमति से भारत 2023 में आजादी के 77 वर्ष मनाएगा.

यह भी पढ़ें: कौन थीं डॉ मुत्तुलक्ष्मी रेड्डी? जानें उन्होंने भारत में किस तरह पहचान बनाई

स्वतंत्रता दिवस 2023 थीम (Theme of Independence Day 2023)

इस साल स्वतंत्रता दिवस 2023 की थीम “राष्ट्र पहले, हमेशा पहले” (Nation First, Always First)  होगी. “आजादी का अमृत मोहत्सव” से संबंधित कार्यक्रमों के ढांचे के भीतर आयोजित किया जाएगा. सरकार ने देश की विभिन्न संस्कृतियों का जश्न मनाने के लिए इस पहल के तहत विभिन्न कार्यक्रम चलाने का निर्णय लिया है.