राजस्थान के उदयपुर में 28 जून को टेलर कन्हैया लाल तेली की दो लोगों ने कथित रूप से गला काटकर हत्या कर दी. इस निर्मम हत्या के बाद देशभर से प्रतिक्रियाएं आ रही हैं. केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान ने इस घटना की निंदा की है और मदरसों में पढ़ाए जाने वाले कंटेंट पर सवाल खड़े किए हैं.

यह भी पढ़ें: उदयपुर में कन्हैया लाल की गला काटकर हुई हत्या की जांच NIA करेगी

आरिफ मोहम्मद खान ने कहा, “सवाल यह है कि क्या हमारे बच्चों को ईश-निंदा करने वालों का सर कलम करना पढ़ाया जा रहा है? मुस्लिम क़ानून कुरान से नहीं आया है, वह किसी इंसान ने लिखा है जिसमें सिर कलम करने का क़ानून है और यह क़ानून बच्चों को मदरसा में पढ़ाया जा रहा है.”

NIA को सौंपी गई जांच 

देश भर में लोगों को झकझोर देने वाली घटना के एक दिन बाद गृह मंत्रालय कार्यालय (HMO) ने ट्वीट कर बताया है कि इस मामले की जांच NIA को सौंपी गई है. मंत्रालय ने ट्वीट किया, “MHA ने राष्ट्रीय जांच एजेंसी (NIA) को राजस्थान के उदयपुर में कल (28 जून) हुई कन्हैया लाल तेली की नृशंस हत्या की जांच अपने हाथ में लेने का निर्देश दिया है.”

यह भी पढ़ें: कौन है रियाज और गोस मोहम्मद?

पुलिस ने कहा कि हमलावरों में से एक की पहचान रियाज अख्तर के रूप में हुई है. उसने कन्हैया लाल पर धारदार हथियार से हमला किया, जबकि दूसरे हमलावर घोस मोहम्मद ने अपने मोबाइल फोन पर इस घटना को रिकॉर्ड किया. दरजी कन्हैया लाल तेली ने हाल ही में नूपुर शर्मा के समर्थन में एक सोशल मीडिया पोस्ट साझा किया था. बता दें कि पूर्व बीजेपी नेता नूपुर शर्मा ने पैगंबर मोहम्मद के खिलाफ विवादास्पद टिप्पणी की थी. 

यह भी पढ़ें: उदयपुर हत्याकांड के दोनों आरोपी अरेस्ट, CM बोले- कड़ी से कड़ी सजा दिलाएंगे

हत्या के बाद से उदयपुर सहित पूरे राजस्थान में एहतियातन धारा 144 लागू कर दी गई है और इंटरनेट भी 24 घंटे के लिए बंद कर दिया गया है. उदयपुर में हर जगह पुलिस बल तैनात है. शांति है लेकिन तनाव बरकरार है और कर्फ़्यू लगा हुआ है. सभी बाज़ार और दुकानें बंद हैं.