Rahul Gandhi: कांग्रेस के नेता राहुल गांधी को बड़ी राहत मिली है. मोदी सरनेम केस में राहुल गांधी को सूरत की निचली अदालत ने दोषी करार दिया था. इसके बाद कोर्ट ने दो साल की सजा सुनाई थी. इस फैसले के बाद राहुल गांधी की संसद की सदस्यता चली गई थी. लेकिन अब सुप्रीम कोर्ट ने Rahul Gandhi को सुनाई गई सजा पर रोक लगा दी है. Supreme Court ने कहा है कि जब तक याचिका पर सुनवाई पूरी नहीं हो जाती है तब तक दोषसिद्धि पर रोक रहेगी.

सुप्रीम कोर्ट ने जहां एक ओर राहुल गांधी पर लगे दोषसिद्धि पर रोक लगाई है. वहीं, दूसरी ओर उन्हें सुनाए गए अधिकतम सजा पर भी सवाल उठाए हैं. अब सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले से राहुल गांधी को बड़ी राहत मिली है. वहीं, कांग्रेस पार्टी और विपक्षी गठबंधन के लिए भी काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है.

य़ह भी पढ़ेंः Train Rules Change: रेल यात्रा के दौरान अब आप अपनी मन मर्जी से नहीं होगा गाना बजाना और सोना!

Rahul Gandhi की संसद सदस्यता होगी बहाल

राहुल गांधी को दो साल की सजा सुनाए जाने के बाद लोकसभा की सदस्यता से अयोग्यता ठहरा दिया गया था. लेकिन अब उनकी सदस्यता फिर से बहाल हो सकती है. क्योंकि अब सुप्रीम कोर्ट ने दोषसिद्धि पर रोक लगा दिये हैं इसका मतलब ये है कि, राहुल गांधी के लिए संसद के दरवाजे कानूनी तौर पर खुल गए हैं. राहुल गांधी केरल की वायनाड सीटे से सांसद थे. ऐसे में उनकी सदस्यता जाने के बाद उपचुनाव होता तो संसद सदस्यता बहाल नहीं हो पाती. लेकिन अब तक उपचुनाव नहीं हुए हैं तो अब उनकी सदस्यता बहाल होने का रास्ता साफ हो गया है.

यह भी पढ़ेंः Sahara Refund में केवल मिलेंगे 10 हजार रुपये, ये दस्तावेज नहीं तो भूल जाएं रिफंड

वहीं, सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले से राहुल गांधी के लिए साल 2024 के चुनाव लड़ने का भी रास्ता साफ हो गया है. अगर चुनाव होने तक राहुल गांधी की याचिका पर सुनवाई पूरी नहीं होती है तो चुनाव लड़ सकते हैं.