Noida’s Ajnara Society viral video; बड़ी-बड़ी हाई-राइज टावर वाली सोसाइटी के गेट पर ड्यूटी देने सिक्योरिटी गार्ड अक्सर अभद्रता का शिकार होते रहे हैं. वो सोसाइटी में रहने वाले लोगों के दुर्व्यवहार, मौखिक और यहां तक कि शारीरिक शोषण का भी शिकार हो जाते हैं. ऐसा ही नहीं मामला आया है उत्तर प्रदेश के नोएडा से. इस घटना का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है. दरअसल, नोएडा के सेक्टर 121 स्थित अजनारा होम्स सोसाइटी की तीन लड़कियों ने नशे की हालत में सिक्योरिटी गार्ड से बदसलूकी की. 

यह भी पढ़ें: VIDEO: 10 वर्षीय शौर्यजीत ने नेशनल गेम्स में मचाई सनसनी, PM मोदी भी हुए मुरीद

नोएडा सेंट्रल एडीसीपी साद मियां खान ने मामले पर कहा, “थाना फेज-3 में अजनारा होम सोसाइटी में कुछ महिलाओं ने एक गार्ड के साथ अभद्रता की. गार्ड की शिकायत पर एक एनसीआर दर्ज करके उन महिलाओं के विरुद्ध कार्रवाई की गई है.”

वीडियो में देखा जा सकता है कि एक महिला सिक्योरिटी गार्ड का कॉलर पकड़ रही है और उसकी टोपी भी निकाल के फेंक दी है. साथ ही वो उससे पूछ रही है- विशु कौन है? दो और लड़कियां वहीं खड़े होकर इस घटना का वीडियो बना रही हैं. इसके बाद एक और सिक्योरिटी गार्ड आकर पीड़ित को लड़की से छुड़ाकर अलग ले जाता है.  

यह भी पढ़ें: Jhalak Dikhhla Jaa 10: माधुरी दीक्षित ने किया Kili Paul के साथ धांसू डांस, देखें VIDEO

पिछले महीने नोएडा के सेक्टर 121 में क्लियो काउंटी में एक महिला प्रोफेसर सुतापा दास ने गुस्से में अपनी कार से निकलकर उंगली दिखते हुए पहले गार्ड से दुर्व्यवहार किया और फिर उसे तीन थप्पड़ मारे. 

यह भी पढ़ें: सामी-सामी सॉन्ग पर सलमान खान और रश्मिका मंदाना ने लगाए ठुमके, देखें वीडियो

एक महीने पहले गुड़गांव में एक और इस तरह की घटना सामने आई थी. कुछ मिनटों के लिए लिफ्ट में फंसे एक व्यवसायी ने गार्ड के साथ बदसलूकी की थी. लिफ्ट में निकलने के बाद उसकी पहली प्रतिक्रिया गार्ड को थप्पड़ मारने की थी. हालांकि, गार्ड उसे बचाने की कोशिश कर रहा था. 

यह भी पढ़ें: कौन हैं सिंगर Abdu Rozik? उम्र बढ़ी लेकिन कद नहीं, देखें तस्वीरें

सोसाइटी और अन्य जगह पर काम करने वाले और सिक्योरिटी गार्ड्स को अधिक पैसा कमाने वाले लोग या संपन्न परिवार से आने वाले लोग छोटी नजर से देखते हैं और ये समझते हैं कि वह उनके साथ ऐसा व्यवहार कर सकते हैं. गुस्सा आने पर कोई अपने ऑफिस में इस तरह का बर्ताव तो नहीं करता है. लेकिन रिक्शे-ऑटो वालों पर या अन्य मजदूरी का काम करने वालों के साथ ऐसा व्यवहार एक आम बात है.