National Dental Commission Bill 2023: संसद ने मंगलवार 8 अगस्त को नेशनल डेंटल कमीशन बिल 2023 (National Dental Commission Bill, 2023) पारित कर दिया. मंगलवार को राज्यसभा ने इस बिल को पास कर दिया. इसे 28 जुलाई को लोकसभा द्वारा पारित किया गया था. दंत चिकित्सा उपचार और संबंधित शिक्षा में बड़े बदलाव लाने के लिए केंद्र सरकार द्वारा यह विधेयक पेश किया गया था. इससे मेडिकल क्षेत्र में बड़ा बदलाव आने वाला है. इससे स्वास्थ्य सेवा की गुणवत्ता बढ़ेगी और दंत चिकित्सा शिक्षा वैश्विक मानकों के बराबर आएगी.

यह भी पढ़ें: Quit India Movement History: भारत छोड़ो आंदोलन क्यों हुआ था? जानें इस दिन का इतिहास

नेशनल डेंटल कमीशन की स्थापना की जाएगी (National Dental Commission Bill 2023)

नेशनल डेंटल कमीशन की स्थापना एक्ट अधिनियम 2023 द्वारा की जाएगी. यह मौजूदा डेंटल काउंसिल ऑफ इंडिया का स्थान लेगा. इसके साथ ही दंत चिकित्सक विधेयक 1948 को निरस्त कर दिया जाएगा. दंत चिकित्सा शिक्षा में आमूल-चूल बदलाव लाने के लिए नेशनल डेंटल कमीशन की स्थापना की जाएगी ताकि वे अंतरराष्ट्रीय मानकों के बराबर हो सकें.

नेशनल डेंटल बिल नेशनल डेंटल कमीशन और स्टेट डेंटल काउंसिल की स्थापना के अलावा तीन स्वायत्त बोर्ड (अंडरग्रेजुएट और पोस्टग्रेजुएट डेंटल एजुकेशन बोर्ड, डेंटल असेसमेंट एंड रेटिंग बोर्ड (डीएआरबी) और एथिक्स एंड डेंटल रजिस्ट्रेशन बोर्ड (ईडीआरबी)) भी स्थापित करेगा. ये सेक्टर को रेगुलेट करने में भूमिका निभाएंगे.

यह भी पढ़ें: National Handloom Day: क्यों मनाया जाता है राष्ट्रीय हथकरघा दिवस, किसने किया था शुरुआत?

दांत के डॉक्टरों का ऑनलाइन लाइव रजिस्टर बनाया जाएगा

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि शनल डेंटल कमिशन बिल देश के सभी लाइसेंस प्राप्त दंत चिकित्सकों का एक ऑनलाइन और लाइव राष्ट्रीय रजिस्टर बनाएगा. विधेयक का उद्देश्य देश में दंत चिकित्सा उपचार के उच्चतम मानकों को सुनिश्चित करना है. इस बिल की मदद से दांतों के इलाज से जुड़े शोध को बढ़ावा दिया जाएगा. इसके लिए उद्योग और शैक्षणिक संस्थानों के बीच साझेदारी को प्रोत्साहित किया जाएगा. इसके साथ ही दंत चिकित्सा शिक्षा में अत्याधुनिक तकनीक का भी उपयोग किया जाएगा.