देशभर में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi) के जन्मदिन के अवसर पर 17 सितंबर से रक्तदान अमृत महोत्सव की शुरुआत हो गई है. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया (Mansukh Mandaviya) ने राष्ट्रीय रक्तदान शिविर (Blood Donation Camp) में हिस्सा लिया. इसके अलावा देश की जनता ने भी खूब बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया. इस अभियान के तहत सफदरजंग अस्पताल में आयोजित रक्तदान शिविर में केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. मनसुख मंडाविया ने रक्तदान किया. रक्तदान के बाद उन्होंने शिविर में लोगों का उत्साह भी बढ़ाया. रक्तदान अमृत महोत्सव के तहत देश की जनता ने एक नया विश्व रिकॉर्ड बनाया है. शनिवार को रक्तदान अमृत महोत्सव के तहत 87 हजार से अधिक लोगों ने स्वेच्छा से रक्तदान किया है.

यह भी पढ़ें: कूनो नेशनल पार्क ही क्यों? नामीबिया से आए चीतों को कहीं और क्यों नहीं बसाया

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉ. मनसुख मंडाविया ने शनिवार को कहा, ‘आज मुझे यह बताते हुए खुशी हो रही है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन पर रक्तदान अमृत महोत्सव के तहत 87 हजार से अधिक लोगों ने स्वेच्छा से रक्तदान किया है, जो एक नया विश्व रिकॉर्ड है.’

कौन कर सकता है रक्तदान?

स्वास्थ्य मंत्रालय ने इस अभियान को लेकर राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को एक पत्र भेजा गया है जिसमे कहा गया है कि रक्तदान अभियान एक अक्टूबर तक जारी रहेगा. कोई भी स्वस्थ्य इंसान जिसकी उम्र 18 साल से अधिक हो वे रक्तदान अभियान में शामिल होकर स्वैच्छा से ब्लड डोनेट कर सकता है.

यह भी पढ़ें: कौन थे महाराजा रामानुज प्रताप सिंह देव? जिन्होंने आखिरी 3 चीतों को मारी थी गोली

ज़ी न्यूज़ रिपोर्ट के मुताबिक, भारत सरकार की ओर से संचालित ई-रक्तकोष पोर्टल पर ब्लड बैंकों को पंजीकरण कर उनका डेटा अपडेट करने के आदेश दिए गए हैं. सभी प्राइवेट और सरकारी ब्लड बैंक में उपलब्ध ब्लड ग्रुप के मुताबिक स्टॉक ई-रक्त कोष पोर्टल पर दिखेगा और आम जनता भी इस पोर्टल पर स्टॉक चेक कर सकेंगे. इस पोर्टल का लिंक आरोग्य सेतु ऐप पर भी उपलब्ध है.

यह भी पढ़ें: चीता, बाघ, तेंदुआ, जैगुआर में क्या अंतर है? कैसे करें इनकी पहचान, जानें आसान तरीका

ब्लड के लिए जमा किया जाएगा डेटा

यदि किसी ब्लड बैंक में क्षमता से अधिक लोग आते हैं, जो लोग खून नहीं दे पाते हैं. उन्हें भी पार्टिसिपेशन सर्टिफिकेट मिलेगा. ऐसे लोगों का ब्लड सैंपल का डाटा जमा करके आवश्यकता पड़ने पर उन्हें ब्लड डोनेशन के लिए कॉल की जाएगी.