विराट कोहली की अगुआई वाली रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर (आरसीबी) की टीम छह दिन के अनिवार्य पृथकवास से गुजरने के बाद इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के आगामी सत्र के लिए आज (27 अगस्त) से तीन हफ्ते का ट्रेनिंग शिविर शुरू करेगी. खिलाड़ी जैविक रूप से सुरक्षित माहौल में ट्रेनिंग करेंगे.

आरसीबी के क्रिकेट संचालन निदेशक माइक हेसन ने कहा, ‘‘खिलाड़ियों ने पिछले कुछ महीने कई तरह के माहौल में बिताए हैं और फिटनेस तथा ट्रेनिंग के अलग अलग स्तर पर हैं. इसलिए सभी के लिए एक तरह की ट्रेनिंग सत्र के लिए तैयारी करने का सही तरीका नहीं होगा. ’’

उन्होंने कहा, ‘‘हमारे सहयोगी स्टाफ की टीम ऐसे तरीके से काम करती रहेगी जिसमें लचीलापन होगा और प्रत्येक खिलाड़ी की मदद कर पाएगा. ’’

हेसन ने कहा, ‘‘खिलाड़ियों को मानसिक, शारीरिक और भावनात्मक रूप से निखारने के लिए हमारे पास बेहद कुशल सहयोगी स्टाफ है जिससे कि तैयारी में प्रत्येक खिलाड़ी की मदद हो सके और वे अपना सर्वश्रेष्ठ क्रिकेट खेलने के लिए तैयार रहें. ’’

कोहली की अगुआई में आरसीबी की टीम एक बार फिर अपने पहले आईपीएल खिताब के लिए चुनौती पेश करेगी. मुख्य कोच साइमन कैटिच ने कहा, ‘‘हमारी तैयारी इसके इर्द गिर्द घूमती है कि खिलाड़ियों को ट्रेनिंग के लिए कम से कम तीन हफ्ते का समय देना है जिसके कि उनका शरीर प्रतियोगिता के लिए तैयार हो जाए.’’

कैटिच ने बताया कि उन्होंने शुरू में समूहों में ट्रेनिंग की योजना बनाई जिससे कि लंबे ब्रेक के बाद बल्लेबाजों को पर्याप्त समय मिले. एक साथ पूरी टीम के ट्रेनिंग नहीं करने से कोरोना वायरस संक्रमण का जोखिम कम करने में भी मदद मिलेगी.

आरसीबी के खिलाड़ी अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद की क्रिकेट अकादमी में ट्रेनिंग करेंगे.