Independence Day Speech in Hindi 2023: भारत इस साल 15 अगस्त को अपना 77वां स्वतंत्रता दिवस मनाने के लिए पूरी तरह तैयार है. इस दिन पीएम मोदी देशवासियों को संबोधित करेंगे. वहीं, देशभर में स्कूल, कॉलेज समेत कई जगहों पर कार्यक्रम भी आयोजित किए जाते हैं. स्कूलों में विद्यार्थी भाषण भी देते हैं. ऐसे में हम यहां कुछ पंक्तियां लेकर आएं हैं जिन्हें आप अपने भाषण में शामिल कर के अपने भाषण को और भी आकर्षित बना सकते हैं.

यह भी पढ़ें: लोकमान्य बालगंगाधर तिलक के 5 सबसे प्रसिद्ध नारे, जिन्हें हर भारतीयों को अपनाना चाहिए

Independence Day Speech in Hindi 2023

15 अगस्त 1947 को भारत को ब्रिटिश शासन से आजादी मिली. आजादी के बाद हमें अपने देश और मातृभूमि में सभी मौलिक अधिकार मिले.

हमें भारतीय होने पर गर्व होना चाहिए और अपने सौभाग्य की सराहना करनी चाहिए कि हमने स्वतंत्र भारत की भूमि पर जन्म लिया है.

गुलाम भारत का इतिहास सब कुछ बताता है कि कैसे हमारे पूर्वजों ने कड़ा संघर्ष किया और फिरंगियों की क्रूर यातनाओं को सहन किया.

हम यहां बैठकर कल्पना भी नहीं कर सकते कि ब्रिटिश शासन से आजादी पाना कितना कठिन था. इसमें असंख्य स्वतंत्रता सेनानियों के जीवन का बलिदान और 1857 से 1947 तक कई दशकों का संघर्ष शामिल है.

ब्रिटिश सेना में कार्यरत सैनिक मंगल पांडे ने भारत की आजादी के लिए अंग्रेजों के खिलाफ पहली आवाज उठाई थी.

बाद में कई महान स्वतंत्रता सेनानियों ने आजादी के लिए लड़ाई लड़ी और अपना पूरा जीवन लगा दिया. हम सभी भगत सिंह, खुदीराम बोस और चन्द्रशेखर आज़ाद को कभी नहीं भूल सकते जिन्होंने बहुत कम उम्र में देश के लिए लड़ते हुए अपनी जान गंवा दी.

यह भी पढ़ें: कौन थीं डॉ मुत्तुलक्ष्मी रेड्डी? जानें उन्होंने भारत में किस तरह पहचान बनाई

हम नेता जी और गांधी जी के संघर्षों को कैसे नजरअंदाज कर सकते हैं. गांधीजी एक महान व्यक्तित्व थे जिन्होंने भारतीयों को अहिंसा का पाठ पढ़ाया. वह एकमात्र नेता थे जिन्होंने अहिंसा के माध्यम से आजादी का रास्ता दिखाया.

हम बहुत भाग्यशाली हैं कि हमारे पूर्वजों ने हमें शांति और खुशी की भूमि दी है जहां हम रात में बिना किसी डर के सो सकते हैं और पूरे दिन अपने स्कूल और घर में आनंद ले सकते हैं.

हां, हम स्वतंत्र हैं और हमें पूरी आजादी है, लेकिन हमें अपने आप को अपने देश के प्रति जिम्मेदारियों से मुक्त नहीं समझना चाहिए.