हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने 62 उम्मीदवारों की सूची जारी कर दी है. हिमाचल के मौजूदा मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर सिराज से चुनाव लड़ेंगे. उनके खिलाफ कांग्रेस के चेतराम मैदान में हैं. पूर्व केंद्रीय मंत्री सुख राम के बेटे अनिल शर्मा मंडी से और सतपाल सिंह सत्ती ऊना से चुनाव लड़ेंगे. राज्य में विधानसभा चुनाव के लिए मतदान 12 नवंबर को होना है और नामांकन दाखिल करने की आखिरी तारीख 25 अक्टूबर है.

यह भी पढ़ें: Himachal Pradesh Elections 2022: कांग्रेस ने जारी की 46 उम्मीदवारों की पहली लिस्ट, जानें किसे कहा से मिला टिकट

बीजेपी प्रत्याशियों की इस लिस्ट में पांच महिला उम्मीदवारों के भी नाम हैं. पार्टी की सोमवार को हुई केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक में लिस्ट को अंतिम रूप दिया गया है. पार्टी की चुनाव समिति के सदस्यों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अन्य वरिष्ठ नेता शामिल हैं.

यह भी पढ़ें: Himachal Pradesh Elections 2022: 80 साल से ऊपर के मतदाता घर बैठे डाल सकेंगे वोट, जानें कैसे

प्रेम कुमार धूमल को नहीं मिला टिकट

कुछ मौजूदा विधायकों के टिकट काटे गए हैं. पिछले चुनाव में बीजेपी के मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार रहे प्रेम कुमार धूमल को इस बार चुनाव में खड़ा नहीं किया गया है. कांगड़ा से पवन काजल को, हमीरपुर सीट से नरेंद्र ठाकुर और सुजानपुर सीट से कैप्टन (रिटायर्ड) रणजीत सिंह को बीजेपी ने मैदान में उतारा है. 

यह भी पढ़ें: हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव वोटिंग से जुड़ी जरूरी बातें, देखें पूरा डेटा

हिमाचल प्रदेश चुनाव की सभी जरूरी तारीखें

हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए सभी उम्मीदवार 25 अक्टूबर 2022 तक नामांकन पत्र भर सकेंगे. इसके बाद नामांकनों की छंटनी 27 अक्टूबर को होगी. बता दें कि 23 और 24 अक्टूबर को अवकाश के चलते नामांकन नहीं भरे जा सकेंगे. नामांकन पत्र वापस लेने की अंतिम तारीख 29 अक्टूबर रखी गई है. हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 के लिए मतदान 12 नवंबर 2022 को होगा जबकि मतगणना 8 दिसंबर 2022 को. चुनाव प्रक्रिया 10 दिसंबर 2022 तक पूरी कर ली जाएगी.

यह भी पढ़ें: गुजरात चुनाव की तारीख पर चुनाव आयोग ने दिया अपडेट, 8 दिसंबर को आएगा रिजल्ट!

हिमाचल प्रदेश विधानसभा का कार्यकाल अगले साल 8 जनवरी 2023 को समाप्त होगा. हिमाचल प्रदेश में 68 सीटों पर चुनाव होना है. 2008 के परिसीमन के बाद से हिमाचल प्रदेश विधानसभा के लिए कुल 68 सीटों पर चुनाव होता है. 2017 में भारतीय जनता पार्टी ने 68 में से 44 सीटों पर जीत हासिल की थी. वहीं, कांग्रेस के खाते में 21 सीट और अन्य को 3 सीट मिली थीं.