दिल्ली पुलिस ने फैक्ट चेक करने वाली वेबसाइट ऑल्ट न्यूज के सह-संस्थापक मोहम्मद जुबैर के खिलाफ नए आरोप जोड़े हैं. 2018 में एक कथित आपत्तिजनक ट्वीट से संबंधित एक मामले में जुबैर पहले से ही दिल्ली पुलिस की हिरासत में है. दिल्ली पुलिस ने पटियाला हाउस कोर्ट में जुबैर को पेश करते हुए उनके खिलाफ आपराधिक साजिश और सबूत नष्ट करने के नए आरोपों का जिक्र किया. पुलिस ने जुबैर को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजने की मांग की है. 

यह भी पढ़ें: अमरनाथ यात्रा के लिए प्रशासन ने ये दस्तावेज किए जरूरी, सभी नियम जानें

नए आरोप एफसीआरए या विदेशी अंशदान (विनियमन) अधिनियम की धारा 35 के तहत लगाए गए हैं. जुबैर पर दिल्ली पुलिस ने FCRA की धारा 201, 120B, 35 लगाई है. पुलिस ने जुबैर पर सबूत मिटाने, साजिश रचने और विदेशी चंदा लेने का आरोप लगाया है.  

आपराधिक साजिश को प्राथमिकी में जोड़ने के साथ प्रवर्तन निदेशालय मनी लॉन्ड्रिंग जांच के लिए कदम बढ़ा सकता है. दिल्ली पुलिस ने जुबैर के लिए 14 दिन की न्यायिक हिरासत मांगी है.

दिल्ली पुलिस ने मोहम्मद जुबैर को 27 जून को अपने एक ट्वीट के जरिए धार्मिक भावनाओं को आहत करने के आरोप में गिरफ्तार किया था. उसी दिन निचली अदालत ने उन्हें एक दिन की पुलिस हिरासत में भेज दिया था. 

यह भी पढ़ें: नीरज चोपड़ा ने छुए बुजुर्ग फैन के पैर, हर तरफ हो रही वाहवाही, देखें VIDEO

इस महीने की शुरुआत में मोहम्मद जुबैर के खिलाफ भारतीय अचार संहिता (IPC) की धारा 153 ए (धर्म, जाति, जन्म स्थान, भाषा, आदि के आधार पर विभिन्न समूहों के बीच दुश्मनी को बढ़ावा देना) और 295 ए (धार्मिक भावनाओं को आहत करने के इरादे से जानबूझकर और दुर्भावनापूर्ण कार्य) के तहत मामला दर्ज किया गया था.

पुलिस ने कहा कि यह मामला एक ट्विटर यूजर की शिकायत पर दर्ज किया गया था, जिसने उन पर धार्मिक भावनाओं को आहत करने का आरोप लगाया था.