गुजरात (Gujarat) की भारतीय जनता पार्टी (BJP) सरकार ने गुजरात विधानसभा चुनाव 2022 (Gujarat Elections 2022) से पहले एक बड़ा दांव चल दिया है. गुजरात कैबिनेट की बैठक के बाद राज्य के गृह मंत्री हर्ष सांघवी (Harsh Sanghavi) ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) और केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) से प्रेरणा लेते हुए मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल (Bhupendra Patel) ने कैबिनेट बैठक में ऐतिहासिक फैसला लिया है. राज्य में समान नागरिक संहिता यानी यूनिफॉर्म सिविल कोड (Uniform Civil Code) को लागू करने के लिए एक कमेटी का गठन किया जाएगा.

यह भी पढ़ें: Rajasthan: कितनी ऊंची है नाथद्वारा में बनी शिव प्रतिमा? जानें Statue of Belief की खास बातें

अमर उजाला की रिपोर्ट के अनुसार, इसी महीने की शुरुआत में केंद्र सरकार ने समान नागरिक संहिता लागू करने को लेकर सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दिया था. हलफनामे में कहा गया कि केंद्र सरकार संसद को समान नागरिक संहिता पर कोई कानून बनाने या उसे लागू करने का निर्देश नहीं दे सकती है. वरिष्ठ अधिवक्ता अश्विनी उपाध्याय की तरफ से याचिका दाखिल की गई थी जिसमें उत्तराधिकार, विरासत, गोद लेने, विवाह, तलाक, रखरखाव और गुजारा भत्ता को विनियमित करने वाले व्यक्तिगत कानूनों में एकरूपता की मांग की गई थी. भारत सरकार ने इस याचिका के जवाब में सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दाखिल किया था.

यह भी पढ़ें: बिहार: छठ के दौरान औरंगाबाद में हुआ बड़ा हादसा, LPG सिलेंडर फटने से कई घायल

गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेंद्र पटेल ने ट्वीट कर कहा कि ‘राज्य में समान नागरिक संहिता की आवश्यकता की जांच करने और इसके लिए एक मसौदा तैयार करने के लिए सुप्रीम कोर्ट/हाई कोर्ट के एक सेवानिवृत्त जज की अध्यक्षता में एक उच्च स्तरीय समिति बनाने के लिए राज्य कैबिनेट की बैठक में आज महत्वपूर्ण निर्णय लिया गया.’

यह भी पढ़ें: UP: सपा नेता आजम खान की विधानसभा सदस्यता रद्द, भड़काऊ भाषण मामले में 3 साल की मिली है सजा

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि गुजरात सरकार के सूत्रों के अनुसार, 1 या 2 नवंबर को गुजरात विधानसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान हो सकता है. आपको मालूम हो कि तारीखों का ऐलान होते ही गुजरात में आचार संहिता लागू हो जाएगी. इससे पहले यूनिफॉर्म सिविल कोड का बड़ा दांव चुनाव में महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है.