अमृतसर (Amritsar) के पास के गांव में पुलिस और गायक सिद्धू मूसेवाला (Sidhu Moose Wala) के दो संदिग्ध हत्यारों के बीच मुठभेड़ जारी है. मौके पर दो एम्बुलेंस पहुंची हैं. सूत्रों के मुताबिक, इलाके की घेराबंदी कर दी गई है और लोगों को घर के अंदर रहने के लिए कहा गया है.

यह भी पढ़ें: रानिल विक्रमसिंघे श्रीलंका के नए राष्ट्रपति बने, जानें इनके बारे में सबकुछ

पंजाब पुलिस की एंटी गैंगस्टर टास्क फोर्स दो लोगों- गैंगस्टर जगरूप सिंह रूपा और मनप्रीत सिंह उर्फ मन्नू कुस्सा का पीछा कर रही थी, तभी अमृतसर से करीब 20 किलोमीटर दूर भकना गांव में मुठभेड़ शुरू हुई. हालांकि, पंजाब पुलिस के एसएचओ सुखबीर सिंह ने कहा, “ऑपरेशन अभी भी जारी है. आरोपी व्यक्तियों के बारे में अभी कुछ भी स्पष्ट नहीं है, चाहे वे गैंगस्टर हों या आतंकवादी.”  

मन्नू कुस्सा पर आरोप है कि उसने मूसेवाला पर एके-47 राइफल से पहली गोली चलाई थी. वह और जगरूप सिंह रूपा उन तीन संदिग्ध निशानेबाजों में से हैं जो अभी फरार हैं. इनमें से दीपक मुंडी का अभी तक पता नहीं चल पाया है.

इस मामले में पंजाब, दिल्ली और मुंबई की पुलिस लगी हुई है. हत्या का निर्देश कथित तौर पर कनाडा के सतिंदरजीत सिंह उर्फ गोल्डी बरार ने गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई के साथ मिलकर दिया था, जो पहले से ही दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद था.

यह भी पढ़ें: रांची: चेकिंग के दौरान महिला सब इंस्पेक्टर को पिकअप वैन ने कुचला, मौत

गोल्डी बरार पर आरोप है कि उन्होंने फेसबुक पोस्ट के जरिए हत्या की जिम्मेदारी ली थी. पोस्ट में कहा गया है कि यह पिछले साल एक अकाली नेता विक्की मिद्दुखेड़ा की हत्या का बदला था.

यह भी पढ़ें: कौन हैं दिनेश खटीक? UP सरकार में मंत्री, CM योगी से नाराज बताए जा रहे हैं

शुभदीप सिंह सिद्धू उर्फ सिद्धू मूसेवाला गायक-गीतकार और रैपर होने के अलावा कांग्रेस नेता थे. सिद्धू मूसेवाला की 29 मई को पंजाब के मनसा जिले में उनके गांव मूसा के पास गोली मारकर हत्या कर दी गई थी.