देश में इन दिनों H3N2 इन्फ्लुएंजा का खतरा तेजी से बढ़ रहा है. ऐसे में लोगों के लिए एक और बुरी खबर निकलकर सामने आ रही है. दरअसल, H3N2 इन्फ्लुएंजा के साथ साथ कोविड के मामलों में भी बढ़ोत्तरी देखने को मिल रही है. स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, रविवार को 113 दिन के बाद एक दिन में कोविड-19 के 524 नए मामले निकलकर सामने आए हैं. इससे पहले 18 नवंबर, 2022 को 500 नए केस सामने आए थे. इसके साथ ही देश में कोरोना के उपचाराधीन मरीजों की संख्या बढ़कर करीब 3600 के पास पहुंच गई है. केरल में संक्रमण से एक मरीज की मौत के बाद, कोविड (Corona Update) से होने वाली मौतों का कुल आकंड़ा बढ़कर 5,30,781 हो गया है.

यह भी पढ़ें: कोरोना के नए वेरिएंट से कोई नहीं बच पाएगा, जानें AIIMS के डॉक्टर ने क्या कहा

आपको बता दें कि बीते कुछ दिनों में संक्रमण का आंकड़ा बहुत ही तेजी से बढ़ा है. पिछले एक हफ्ते में करीब 2650 नए मामले सामने आए हैं. बीते कुछ दिनों में कोरोना के जो नए मामले सामने आए हैं,  उनमें सबसे अधिक कर्नाटक, केरल, महाराष्ट्र, तमिलनाडु और तेलांगना जैसे राज्यों के लोग  शामिल हैं. भारत में दैनिक मामलों का साप्ताहिक औसत पिछले 11 दिन में दोगुना हो गया है. जो कि हर व्यक्ति के लिए अब चिंता का विषय है और सतर्क रहने की जरूरत है.

यह भी पढ़ें: खांसी के इन लक्षणों को बिल्कुल न करें नजरअंदाज, ओमिक्रॉन BF.7 की चपेट में हो सकते हैं आप!

गौरतलब है कि हालही में देशभर में H3N2 वायरस ने भी काफी तेजी पकड़ रखी है. H3N2 इन्फ्लुएंजा की चपेट में आने के बाद लोगों को कमजोरी और थकान से उबरने में 2 सप्ताह से अधिक का समय लग रहा है. चिंता की बात यह है कि इसके लक्षण काफी हद तक कोविड से मिलते जुलते हैं.  इन्फ्लुएंजा के मरीजों में तेज बुखार, लगातार खांसी और सांस लेने में तकलीफ की समस्या देखने को मिल रही है. मौसम के बदलाव के साथ ही H3N2 वायरस का प्रकोप तेज हो गया है. हालांकि H3N2 अभी तक टेस्टिंग में नहीं आया है, लेकिन लोगों में जो लक्षण दिख रहे हैं, वो इस वायरस के ही मिल रहे हैं.