Shah Rukh Khan: शाहरुख खान की मुश्किलें फिर से बढ़ने वाली हैं. बॉम्बे हाईकोर्ट ने बीते 5 जुलाई को कॉर्डेलिया क्रूज ड्रग्स केस से जुड़े समीर वानखेड़े रिश्वतखोरी मामले में निर्देश दिया है. कोर्ट ने IRS ऑफिसर समीर वानखेड़े (Sameer Wankhede) की याचिका में बदलाव करने और रिश्‍वत देने वाले का नाम जोड़ने की अनुमति दी है. यानी इससे शाहरुख खान (Shah Rukh Khan) की मुश्किलें बढ़ने वाली हैं. बता दें, समीर वानखेड़े के खिलाफ CBI रिश्वत और जबरन वसूली के आरोपों की जांच कर रही है. जिस पर समीर वानखेड़े ने कोर्ट में कहा कि, उनके खिलाफ जांच हो रही है, लेकिन रिश्वत देने वाले को कुछ नहीं कहा जा रहा. इस पर कोर्ट ने वकीलों को याचिका में संशोधन करने और इससे जुड़ी जानकारी जोड़ने का निर्देश दिया है.

गौरतलब है कि, साल 2021 में शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को क्रूज ड्रग्स केस में हिरासत में लिया गया था. उस वक्त समीर वानखेड़े NCB में बतौर जोनल डायरेक्टर के पद पर थे. ड्रग्स केस में छापेमारी को भी उन्होंने ही लीड किया था.वहीं, इस मामले में आर्यन खान को क्लिन चिट मिल गई लेकिन वानखेड़े पर आरोप लगाया गया कि, उन्होंने और चार अन्य आरोपियों ने शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को कार्डेलिया क्रूज केस में बचाने के लिए शाहरुख खान से 25 करोड़ रुपये रिश्वत के तौर पर मांगी थी.

यह भी पढ़ेंः OMG 2 में नजर आएंगी यामी गौतम, जानें क्या होगा रोल?

Shah Rukh Khan की मैनेजर ने बढ़ाई समीर वानखेड़े की मुश्किल

दरअसल, शाहरुख खान की मैनेजर पूजा ददलानी ने एनसीबी की व‍िज‍िलेंस टीम को जो बयान दिया है, उसके मुताबिक, यह डील 18 करोड़ रुपये में तय हुई थी और वानखेड़े के सहयोगी केपी गोसावी को 50 लाख रुपये की टोकन मनी भी दी गई थी.

पूजा ददलानी के बयान के बाद समीर वानखेड़े के ख‍िलाफ भ्रष्‍टाचार का मामला सामने आने पर एनसीबी की विज‍िलेंस टीम ने जांच की, और इसी जांच रिपोर्ट के आधार पर सीबीआई ने समीर वानखेड़े के खिलाफ एफआईआर दर्ज की. समीन वानखेड़े के लिए पूजा ददलानी की बयान सबसे बड़ी मुसीबत बन गई है.

यह भी पढ़ेंः Box Office का हाल देख इस साल खूब बदले गए फिल्मों के रिलीज डेट, एक फिल्म तो 8 बार हुई पोस्टपोन

वहीं, बीते 5 जुलाई को वानखेड़े के वकील ने कोर्ट से याचिका में संशोधन की अनुमति मांगी. और कहा जिस व्यक्ति ने सरकारी कर्मचारी को रिश्वत देने का प्रयास किया या पेशकश की, उस पर केस चलाया जाना चाहिए. अब कोर्ट ने भी याचिका को संशोधित करने का आदेश दे दिया है. अब इस मामले में 20 जुलाई को सुनवाई होगी. तब तक CBI को इस संशोधित याचिका पर जवाब देना होगा.