PF अकाउंट में नौकरी पेशा वाले लोग अपनी जिंदगी भर की पूंजी जमा करते हैं. ये नौकरी या रिटायरमेंट के बाद एक अच्छा सहारा होता है. लेकिन कई बार नौकरी बदलते ही या रिटायरमेंट के तुरंत बाद ही लोग PF का पैसा निकाल लेते हैं. इससे आपको मिलने वाला पैसा कम हो सकता है इसलिए इसे तभी निकालें जब इसकी आपको जरूरत हो.

यह भी पढ़ेंः Paytm का नया ऑफर, मोबाइल रिचार्ज पर 1000 रुपये तक का कैशबैक और रिवार्ड

कई बार प्राइवेट कंपनियों में नौकरी करने वाले लोग जब नौकरी बदलते हैं तो पीएफ का पैसा निकाल लेतें हैं लेकिन ऐसा करना समझदारी नहीं है. दरअसल अगर आप नौकरी छोड़ते भी है तो पीएफ पर आपको ब्याज मिलता रहता है. जब तक की आपका अकाउंट निष्क्रिय नहीं हो जाता है. इसके बाद भी जब आप नए कंपनी में काम शुरू करते हैं तो आप उसमें अपने पीएफ का पैसा ट्रांसफर कर सकते हैं.

यह भी पढ़ेंः PF की पुराने अकाउंट के बैलेंस को नए खाते में करें ट्रांसफर, जानें ऑनलाइन आसान तरीका

पीएफ का पैसा नए अकाउंट में ट्रांसफर करने में किसी तरह की परेशानी नहीं होती और आपके पेंशन योजना में रुकावट नहीं आएगी.

यह भी पढ़ेंः इनकम टैक्स फाइल करते हैं तो 31 मार्च तक निपटा लें ये 5 काम

इसी तरह अगर आप रिटायरमेंट लेते है और पीएफ का पैसा नहीं निकालते हैं तो इस पर तीन साल तक ब्याज मिलता रहता है. तीन साल के बाद ही इसे निष्क्रिय अकाउंट माना जाता है. आपको बता दें कि पीएप का पैसा 58 साल की उम्र होने के बाद सेवानिवृत्ति पर ही पूरा पैसा निकाल सकते हैं. हालांकि, नौकरी छोड़ने के एक महीने बाद 75 प्रतिशत तक पैसा निकाला जा सकता है. वहीं अगर आपने 10 साल से कम नौकरी की है तो आप पेंशन का पूरा पैसा निकाल सकते हैं.

  यह भी पढ़ेंः PF पर मिलता है लाखों का मुफ्त इंश्योरेंस, सैलरी के अनुसार होता है कैलकुलेशन

 यह भी पढ़ेंः कहीं भी कभी भी EPF Balance चेक करने के 4 आसान तरीके, घर बैठे करें पता

यह भी पढ़ेंः PF की सुविधा नहीं है तो ले सकते हैं PPF का लाभ, सुरक्षित कर लें अपना भविष्य