रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने हाल ही में रेपो रेट (Repo Rate) में बढ़ोतरी की है. जिससे आम लोगों पर इसका असर देखा जा रहा है. बैंक जल्द ही अपनी लोन पर ईएमआई (Loan EMI) को बढ़ाने की तैयारी कर रही है. वहीं, आम लोगों पर असर कम करने को लेकर सरकार भी बड़ा फैसला ले सकती है. माना जा रहा है कि, सरकार जल्द ही पोस्ट ऑफिस (Post Office) से जुड़े छोटी बचत योजनाओं (Small Saving Scheme) की ब्याज दरों में बढ़ोतरी कर सकती है. आपको बता दें, वित्त मंत्रालय की ओर साल 2022-23 की चौथी तिमाही के लिए ब्याज दरों की समीक्षा करेगा.

यह भी पढ़ेंः EPFO Inerest: कब दिया जाएगा ब्याज का पैसा? जानें ताजा अपडेट

सरकार के द्वारा पोस्ट ऑफिस सेविंग, PPF, SSY, SCSS, RD समेत कुल 12 की छोटी बचत योजनाएं चलाती है. ये सरकार की ऐसी योजनाएं हैं जिसमें आम लोग लंबी अवधी के लिए निवेश कर ज्यादा मुनाफा ले सकते हैं. इन बचत योजनाओं पर सरकार ब्याज दर की समीक्षा हर तिमाही करती है. समीक्षा करने पर उन्हें संशोधित करती है. जिसमें सरकार चाहे तो ब्याज बढ़ाती है या फिर घटा भी सकती है. आपको बता दें, पिछली बार 30 सितंबर को 5 स्माॉल सेविंग योजनाओं पर ब्याज दर बढ़ाई गई थी लेकिन बाकी योजनाओं पर ब्याज अपरिवर्तित रही.

यह भी पढ़ेंः Post Office की किस स्कीम में 500 रुपये से भी कम निवेश पर मिल सकता है 1 करोड़ रुपये

सरकार ने इन अपरिवर्तित ब्याज वाली योजानाओं पर ब्याज सितंबर 2020 से अब तक कोई बदलाव नहीं किया है. वहीं, उस वक्त सरकार ने संशोधन कर ब्याज दर में कटौती कर दी थी.

यह भी पढ़ेंः PF Withdrawal: इन डाक्यूमेंट्स के बिना नहीं निकाल सकते पीएफ का पैसा? यहां जानें

गौरतलब है कि, आरबीआई ने लगातार 5वीं बार रेपो रेट में बढ़ोतरी की है. ये रेपो रेट 4 फीसदी से 5वीं बार बढ़कर 6.25 फीसदी तक पहुंच गई है. लेकिन सरकार ने अब तक एक भी योजनाओं में ब्याज को बढ़ाने का फैसला नहीं लिया है. PPF पर 7.1, SSY पर 7.6 और NSC पर 6.8 ब्याज दर बनी हुई है.

यह भी पढ़ेंः Ladli Laxmi Yojana में बेटी को मिलेंगे 1 लाख से भी ज्‍यादा पैसे, जानें आवेदन का तरीका

पोस्ट ऑफिस की योजनाओं 30 सितंबर को बदली गई दर

सेविंग अकाउंट- पुरानी दर 4 फीसदी- नई दर 4 फीसदी

एक साल TD- पुरानी दर 5.5 फीसदी- नई दर 5.5 फीसदी

दो साल TD- पुरानी दर 5.5 फीसदी- नई दर 5.7 फीसदी

तीन साल TD- पुरानी दर 5.5 फीसदी- नई दर 5.8 फीसदी

5 साल TD- पुरानी दर 5.8 फीसदी- नई दर 5.8 फीसदी

SCSS- पुरानी दर 7.4 फीसदी- नई दर 7.6 फीसदी

मंथली इनकम अकाउंट- पुरानी दर 6.6 फीसदी- नई दर 6.8 फीसदी

नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट- पुरानी दर 6.8 फीसदी- नई दर 6.8 फीसदी

PPF- पुरानी दर 7.1 फीसदी- नई दर 7.1 फीसदी

KVP- पुरानी दर 6.9 फीसदी- नई दर 7 फीसदी

सुकन्या समृद्धि योजना- पुरानी दर 7.6 फीसदी- नई दर 7.6 फीसदी