पेट्रोल पंपों पर अब तेल लेने के बाद भुगतान करने को लेकर एक नयी व्यवस्था लागू हो रही है. जी हां, अगर आपके पास पेटीएम या कोई और वॉलेट मौजूद है, लेकिन वह आपके बैंक अकाउंट से लिंक नहीं है, तो फिर आप भुगतान नहीं कर पाएंगे. दरअसल, आरबीआई के निर्देश पर यह नई व्यवस्था लागू की जा रही है. बल्कि आपको बता दें कि सार्वजनिक क्षेत्र की तेल कंपनी इंडियन ऑयल के लखनऊ मंडल में करीब 350 पम्पों पर यह व्यवस्था शुरू भी हो गई है. शीघ्र ही बचे हुए पेट्रोल पम्पों पर भी यह व्यवस्था लागू कर दी जाएगी.

यह भी पढ़ें: Petrol Pump पर ये सुविधाएं मिलती हैं बिल्कुल मुफ्त, आपको पता होना है जरूरी

यूपी के कुल 75 जिलों में से 43 जिलों में आईओसी के कुल तीन हजार पम्प मौजूद हैं. इनमें से करीब 1700 में यह व्यवस्था लागू की जा चुकी है. आईओसी के मुताबिक, इस व्यवस्था को लागू करने के कई लाभ भी हैं. जो कि ईंधन भरवाने वाले ग्राहक को मिलेगा. एक तो उसने जितना ईधन भरवाया उसका डाटा दर्ज हो जाएगा और उसके साथ-साथ तेल कम पड़ने की शिकायतों में कमी भी तो देखने को मिलेगी. इसके अलावा इंडियन ऑयल पर ईधन डलवाने से कई प्वाइंट्स मिलते हैं. पेमेंट करते ही अपने आप वे प्वाइंट जुड़ जाएंगे, जिनको बाद में ईधन लेने के दौरान रिडीम कराया जा सकता है.

यह भी पढ़ें: सरकार हर 15 दिन में करेगी कच्चे तेल, डीजल, ATF पर लगे टैक्स की समीक्षा

आईटीपीएस मशीनों की मदद से होगा ई भुगतान

अभी तक आपने देखा होगा कि पेट्रोल पंपों पर पेटीएम व अन्य वॉलेट के क्यूआर कोड चिपके रहते थे. उन्हें स्कैन कर के हमें अपना भुगतान करना होता था. लेकिन अब आईओसी ने अपने पम्पों पर आईटीपीएस पॉश मशीनें उपलब्ध करा दी हैं. इनका क्यूआर कोड सीधे यूपीआई के जरिए बैंक से भुगतान को एक्सेस देता है.

यह भी पढ़ें: PM मोदी ने पेट्रोल-डीजल पर VAT न घटाने वाले इन 7 राज्यों को सुनाया

ऐसे करते हैं वॉलेट भुगतान

कई बार कुछ लोग पेटीएम वॉलेट का इस्तेमाल तो करते हैं, लेकिन वह बैंक से कनेक्ट नहीं होते हैं. ऐसे केस में वह किसी परिचित से अपनी वॉलेट में पैसे ट्रांसफर करा कर भुगतान कर सकते हैं और जहां पर पेटीएम क्यूआर कोड मौजूद हो, वहां पर भुगतान भी कर सकते हैं. वैसे तो हर जगह पर आज पेटीएम कोड मौजूद होता है, लेकिन अगर कहीं पर पेटीएम क्यूआर कोड नहीं है. तो ऐसे में आप बिना बैंक से लिंक पेटीएम या अन्य वॉलेट ऐप से भुगतान नहीं कर पाएंगे. इसलिए आपके पेटीएम ऐप का बैंक से लिंक होना बेहद जरूरी है.