देशभर के किसान (Farmer) खरीफ सीजन के लिए फसलों की बुवाई के कार्य में जुट गए हैं. ऐसे में सरकार किसानों के लिए कई तरह की योजनाएं चला रही है. लगातार गिरते भूस्तर के कारण किसानों को इस बार सिंचाई के समय कई परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है. इसी के मद्देनजर राजस्थान सरकार (Rajasthan Government )ने किसानों को अपने खेतों में तालाब खुदवाने पर आर्थिक मदद देने का फैसला लिया है. राज्य सरकार किसानों को अपने खेतों में तालाब (खेत तलाई) खुदवाने पर 63 हजार रुपये की आर्थिक सहायता देगी.

यह भी पढ़ें: आधे दाम पर खरीदें कृषि मशीन, सरकार दे रही 50 प्रतिशत की छूट, ऐसे करें आवदेन

सरकार की इस योजना के तरह सभी कैटेगरी के किसानों को खेतों में तालाब बनवाने की लागत का 60 फीसदी (अधिकतम राशि रूपये 63000) अनुदान के तौर पर दे रही हैं. इस योजना का लाभ लेने के लिए किसानों के पास 0.3 हेक्टेयर कृषि भूमि पर मालिकाना हक होना चाहिए. इससे कम खेती-किसानी योग्य भूमि रखने वाले किसान इस योजना का फायदा नहीं उठा पाएंगे.

यह भी पढ़ें: एलोवेरा की खेती से कमाएं 5 गुना मुनाफा! यहां जानें कैसे शुरू करें

इस योजना का उद्देश्य

-किसानो की फसल खराब होने से बचाना.

-खेती के लिए सिंचाई क्षेत्र को बढ़ाना.

-किसानो की इनकम को बढ़ाया जा सके और बारिश का पानी को संचित किया जा सके.

-सूखे से निपटना.

-रोजगार के अवसर प्रदान करना.

यह भी पढ़ें: मुर्रा भैंस खरीदने पर सरकार देगी 50 प्रतिशत की सब्सिडी, प्लान जानें

गिरते भूजल स्तर से जूझ रहे हैं उत्तर भारत के राज्य

आपको जानकारी के लिए बता दें कि देश के कई राज्य इस समय गिरते भूजल स्तर की परेशानी का सामना कर रहे हैं. राजस्थान सरकार इन स्थितियों से निपटने के लिए तरह-तरह की योजनाओं पर किसानों के लिए काम कर रही हैं. पंजाब और हरियाणा जैसे राज्य अपने किसानों को धान की सीधी बुआई करने पर सब्सिडी दे रहे हैं.

यह भी पढ़ें: जनधन, उज्ज्वला, किसान…इन 8 योजनाओं से कटे मोदी सरकार के आठ साल

यहां करें आवेदन

राजस्थान फार्म पॉन्ड योजना का फायदा लेने के लिए किसानों को कृषि पर्यवेक्षक या क्षेत्रीय सहायक कृषि अधिकारी से संपर्क करना होगा. जिस स्थान पर आपको तालाब का निर्माण करवाना है. उस स्थान पर जियो टैगिंग लगवाकर ईमित्र पोर्टल पर जाकर आवेदन करना होगा. इसके बाद योजना के अनुसार, तालाब बनवाने के लिए 63 हजार रुपये किसान के खाते में ट्रांसफर कर दिए जाएंगे.

यह भी पढ़ें: अगर किसानों को पाना है PM Kisan Yojana का लाभ, तो जरूर निपटा लें ये काम