Shani Amavasya 2022: हिंदू धर्म में शनिदेव को शक्तिशाली देवता माना जाता है. मान्यता है कि शनिदेव चाहें तो पल में किसी को राजा तो अगले पल किसी को रंक बना सकते हैं. शनि के दोष को मिटाने के लिए प्रत्येक शनिवार को उनकी पूजा की जाती है. मगर शनि अमावस्या पर उनकी पूजा करने से सभी पापों का नाश होता है. इस साल 27 अगस्त यानी आज भादो माह की अमावस्या पर शनि अमावस्या का दिन पड़ा है. ऐसे में अगर किसी के ऊपर साढ़ेसाती का असर है तो शनि देव की पूजा करके इससे मुक्ति पाई जा सकती है.

यह भी पढ़ें: Shani Amavasya ke upay: भाद्रपद की शनि अमावस्या पर बस कर लें ये उपाय, प्रसन्न हो जाएंगे शनिदेव

शनि के साढ़े साती से हैं परेशान तो अपनाएं ये उपाय

भादो मास ही अमावस्या पर शनिवाद का दिन पड़ा है. जब ऐसा योग बनता है तो उसे शनि अमावस्या (Shani Amavasya 2022 ) कहते हैं. भादो में शनिवार को अमावस्या का योग अब दो साल बाद पड़ेगा. अमावस्या तिथि पितरों को समर्पित होती है और अगर भादो की अमावस्या में शनिवार पड़े तो उस दिन विशेष पूजा करें. ऐसे में शनि देव की पूजा और उपाय करने से शनि दोष नष्ट होते हैं.

1. शनि अमावस्या पर शनि स्त्रोत का पाठ करें. ऐसा करने से शनिदेव प्रसन्न होकर भक्तों के कष्टों को कम या कभी कभी खत्म कर देते हैं. जिनकी कुंडली में साढ़े साती होती है उनके लिए ये पाठ लाभदायक होता है.

यह भी पढ़ें: Shani Amavasya 2022: शनि अमावस्या के दिन न करें ये 4 काम, लगता है शनिदोष

2. अमावस्या तिथि पितरों को समर्पित होती है. अगर भादो की अमावस्या में शनिवार पड़े तो उस दिन विशेष पूजा करें. ऐसे में शनि देव की पूजा और उपाय करने से शनि दोष नष्ट होते हैं.

3. जिन लोगों को शनि दोष होता है उनहें शनि अमावस्या पर स्नान करने के बाद शनि देव को सरसों का तेल, काला तिल जरूर अर्पित करें. ऐसी मान्यता है कि इससे शनि महादशा से राहत मिलती है.

4. इस दिन जरूरतमंदों की मदद करनी चाहिए. शनि अमावस्या पर निस्वार्थ भाव से गरीबों की मदद करें. इस दिन गुड़ से बनी चीजों का दान करना साढ़े साती चढ़े लोगों को प्रकोप से बचाने का काम करता है.

यह भी पढ़ें: घर की इस दिशा में रखें भगवान गणेश की मूर्ति, खुलेंगे भाग, होगी धन की वर्षा!

5. अमावस्या के दिन पितरों की शांति के लिए कौए को भोजन कराएं. कौआ शनिदेव का वाहन है और ऐसे में शनिदेव प्रसन्न होते हैं. इसके अलावा काले कुत्ते को मीठी रोटी खिलाएं.

Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. ओपोई इसकी पुष्टि नहीं करता है.