सावन का महीना भगवान शिव को बहुत
प्रिय है, इसलिए इस महीने को शिव का महीना भी कहा जाता है. इस साल सावन
का महीना 12 अगस्त को समाप्त होगा. इस साल सावन के महीने में चार सोमवार
हैं, जिनमें से दो सोनवार बीत गए है. ऐसा माना जाता है कि सावन के सोनवार पर
भगवान शिव की पूजा करने से हर मनोकामना पूरी होती है.

यह भी पढ़ें: Nag Panchami 2022: क्यों मनाई जाती है नागपंचमी? जानें महत्व

हिंदू धर्म के शास्त्रों के अनुसार
भगवान शिव को प्रसन्न करने और कृपा पाने का एक बहुत ही दुर्लभ उपाय बताया गया है.
जिसे सोमवार की रात में करने का विधान है. इस बार नाग पंचमी 2 अगस्त को
पड़ रही है और इससे एक दिन पहले सावन का तीसरा सोमवार है. ऐसे सोमवार की रात को यह
उपाय करने से इसके पुण्य फल और भी बढ़ जाते हैं. मान्यता के अनुसार ऐसे उपाय को
करने से भगवान शिव अपने भक्तों की धन संबंधी सभी समस्याओं को दूर देते हैं.

यह भी पढ़ें: Nagpanchami July 2022: नागपंचमी पर काल सर्प योग से मिलेगी मुक्ति, कर लें ये खास उपाय

सावन के सोमवार की रात करें ये उपाय

सोमवार की रात सावन में भगवान शिव
शंकर के किसी भी ऐसे मंदिर में जाएं जहां पूजा करने के लिए लोगों की आवाजाही कम हो
और वह एकांत स्थान पर हो. रात को वहां जाकर मंदिर की सफाई करें. इसके बाद किसी
देशी गाय के शुद्ध घी का दीपक भगवान शिव के सामने जलाएं. अब वहां बैठकर भगवान शिव Om नमः शिवाय
मंत्र का कम से कम 108 बार जाप करें. इसके बाद बड़ी श्रद्धा से उनके सामने अपनी
मनोकामनाएं बताए. ऐसा माना जाता है कि ऐसा करने से निर्धन व्यक्ति
भी अमीर बन सकता है.

यह भी पढ़ें: August 2022 Festivals List: अगस्त में कौन-कौन से प्रमुख व्रत और त्योहार हैं, देखें लिस्ट

नाग पंचमी शुभ मुहूर्त

पंचमी तिथि प्रारंभ: 2 अगस्त 2022 सुबह 05:14 बजे से.

पंचमी तिथि समापन: 3 अगस्त, 2022 पूर्वाह्न 05:42 बजे.

नाग पंचमी पूजा मुहूर्त: 2 अगस्त 2022 को सुबह 05:42 बजे से 08:24 बजे तक.

मुहूर्त की अवधि: 2 घंटे 41 मिनट.