Krishna Janmashtami 2023 In Hindi: हर वर्ष भाद्रपद मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि के दिन कृष्ण जन्माष्टमी मनाई जाती है. इस प्रकार, साल 2023 में 6 सितंबर को कृष्ण जन्माष्टमी (Krishna Janmashtami 2023) मनाई जाएगी. हालांकि, वैष्णव समाज के अनुयायी 7 सितंबर को भगवान श्रीकृष्ण का जनमोत्स्व मनाने वाले हैं. आपको बता दें कि इस दिन भगवान श्री कृष्ण की उपासना करने से साधक को सुख एवं समृद्धि का आशीर्वाद मिलता है. बता दें कि भाद्रपद कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि के दिन रोहिणी नक्षत्र में मध्य रात्रि के समय भगवान श्री कृष्ण का जन्म हुआ था। इसलिए जन्माष्टमी पर्व के दिन रोहिणी नक्षत्र में मध्य रात्रि के समय भगवान श्री कृष्ण की उपासना का विधान है और इसी नक्षत्र के आधार पर जन्माष्टमी व्रत भी रखा जाता है. तो चलिए जानते हैं श्री कृष्ण जन्माष्टमी व्रत के बारे में विस्तार से.

यह भी पढ़ें: Shani Vakri 2023: 5 महीने शनि की उल्टी चाल 6 राशियों को करेगी परेशान, कुछ को मिलेगा शुभ फल

कृष्ण जन्माष्टमी पर किस दिन व्रत रखा जाना उचित होगा?

इस बार भी श्री कृष्ण जन्माष्टमी को लेकर लोगों में संशय की स्थिति बनी हुई है. कोई 6 को व्रत धारण कर रहा है और कोई 7 को व्रत धारण करने वाला है. ऐसा इसलिए हो रहा है क्योंकि भाद्रपद मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि 06 सितंबर दोपहर 03 बजकर 37 मिनट से शुरू होगी और 07 सितंबर शाम 04 बजकर 14 मिनट तक रहेगी. वहीं इस दिन रोहिणी नक्षत्र 06 सितंबर सुबह 09 बजकर 20 मिनट से शुरू होगा और 07 सितंबर सुबह 10 बजकर 25 मिनट तक रहेगा. ऐसे में जो लोग रोहिणी नक्षत्र में पूजा-पाठ करेंगे, वह कृष्ण जन्माष्टमी व्रत 06 सितंबर 2023, बुधवार के दिन रखेंगे और वहीं वैष्णव संप्रदाय के अनुयायी 07 सितंबर 2023, गुरुवार के दिन कृष्ण जन्माष्टमी व्रत धारण करेंगे.

यह भी पढ़ें: Hal Chhath 2023: हल छठ के दिन क्या नहीं खाना चाहिए? जान लें वरना पुण्य से रह जाएंगे वंचित

कृष्ण जन्माष्टमी के उपाय

आपको बता दें कि इस शुभ अवसर पर कुछ खास उपाय करना साधक के लिए कल्याणकारी माना गया है. इस दिन साधक को इस दिन कुछ खास उपाय करना बहुत ही फलदायी माना गया है. इस दिन आप निम्न उपाय अपनाकर अपना कल्याण कर सकते हैं. चलिए जानते हैं –

1- श्री कृष्ण जन्माष्टमी के शुभ अवसर पर आपको दक्षिणावर्ती शंख में जल भरकर भगवान श्रीकृ्ष्ण का अभिषेक करना चाहिए, ऐसा करने से मां लक्ष्मी प्रसन्न होती हैं और आपके घर में बरकत लाती हैं.

2- जन्माष्टमी के दिन लड्डू गोपाल की पूजा में उनकी पसंद की चीजें जरूर शामिल करनी चाहिए, इनमें मोरपंख, गाय का दूध, खीर और मिठाई आदि शामिल हैं. मान्यता है कि ऐसा करने से घर की सभी परेशानियां दूर हो जाती हैं.

यह भी पढ़ें: Hal Chhath 2023 Upay: हल छठ के दिन कर लें ये कुछ खास उपाय, कष्टों से मुक्ति मिलने के साथ हर क्षेत्र में सफलता!

3- इस शुभ दिन पीले चंदन या केसर में गुलाब जल मिलाकर माथे पर टीका लगाना बहुत ही शुभ माना गया है.
ऐसा करने से जीवन में सुख समृद्धि का आगमन होता है

4- जन्माष्टमी के दिन भगवान श्रीकृष्ण को जटा वाला नारियल और 11 बादाम चढ़ाने से साधक के जीवन में खुशियों का आगमन होने के साथ साथ उसकी आर्थिक स्थिति मजबूत होने लगती है.

(Disclaimer: यहां दी गई जानकारी सामान्य मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है. ओपोई इसकी पुष्टि नहीं करता है.)