Diwali 2022 Date: दिवाली (Diwali2022) हिंदुओं का सबसे प्रसिद्ध त्योहार है, इसे हिंदू धर्म में सबसे बड़ा त्योहार माना जाता है. रोशनी की इस त्योहार का साल भर तक सभी लोग बड़ी बेसब्री से इंतजार करते हैं. दिवाली पर सभी के घर में दिये टिमटिमाते हैं और रंग-बिरंगे बल्बों से घर जगमग करते हैं. हर साल कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष की अमावस्या को दिवाली का पर्व (Diwali Festival2022) मनाया जाता है. लेकिन इस साल दिवाली की तारीख को लेकर शंका है कि दिवाली 24 को है या 25 को. तो चलिए जानते हैं दिवाली की सही तारीख और शुभ मुहूर्त.

यह भी पढ़ें: Diwali 2022: दिवाली की सफाई में घर से बाहर करें ये 5 चीजें, मां लक्ष्मी होंगी खुश

इस साल कब है दिवाली

दिवाली का पर हर साल कार्तिक मास की कृष्ण पक्ष की अमावस्या को मनाया जाता है. लेकिन इस साल अमावस्या तिथि 24 और 25 अक्टूबर को है. इसलिए लोगों के मन में सवाल है कि इस साल किस तारीख को दिवाली मनाई जाएगी. बता दें कि इस साल अमावस्या तिथि प्रदोष काल से पहले ही समाप्त हो जाएगी लेकिन 24 अक्टूबर को प्रदोष काल में अमावस्या तिथि मौजूद रहेगी. इसलिए 24 अक्टूबर को सर्वमान्य रूप से दिवाली का पर्व मनाया जाएगा.

खास बात यह है कि इस साल ज्योतिष शास्त्र के अनुसार नरक चतुर्दशी जिसे छोटी दिवाली के रूप में जाना जाता है वो भी 24 अक्टूबर को ही है. इसलिए इस साल छोटी दिवाली और बड़ी दिवाली दोनों को साथ में मनाया जाएगा.जानें दिवाली शुभ मुहूर्त 

यह भी पढ़ें: Karwa Chauth 2022: करवा चौथ में गलती से कुछ खाने पर करें ये उपाय, व्रत होगा सफल

जानें दिवाली शुभ मुहूर्त 

कार्तिक अमावस्या तिथि प्रारंभ: 24 अक्टूबर को 06:03 बजे

कार्तिक अमावस्या तिथि समाप्त: 24 अक्टूबर 2022 को 02:44 बजे

अमावस्या निशिता काल: 11:39  से 12 :31, 24 अक्टूबर

कार्तिक अमावस्या सिंह लग्न: 00:39 से 02:56, 24 अक्टूबर

दिवाली 2022: 24 अक्टूबर 2022 को

अभिजीत मुहूर्त: 24 अक्टूबर सुबह 11:19 से दोपहर 12:05 तक

विजय मुहूर्त: 24 अक्टूबर दोपहर 01:36 से 02:21 तक

यह भी पढ़ें: Ahoi Ashtami Vrat 2022 Date: कब है अहोई अष्टमी? जानें शुभ मुहूर्त और महत्व

दिवाली पर लक्ष्मी पूजन का समय व मुहूर्त

लक्ष्मी पूजन समय मुहूर्त: 24 अक्टूबर शाम 06:53 से रात 8:16 तक

पूजा अवधि: 1 घंटे 21 मिनट

इस दिवाली बन रहा है शुभ योग 

  ज्योतिष गणना के अनुसार, इस साल दिवाली 24 अक्टूबर 2022 दिन सोमवार को है और उसके बाद 26 अक्टूबर को बुध ग्रह तुला राशि में प्रवेश करेंगे. यहां पर सूर्य, शुक्र और केतु पहले से विराजमान रहेंगे. इससे तुला राशि में अद्भुत संयोग का निर्माण होगा. वहीँ दिवाली के पहले मंगल मिथुन राशि में प्रवेश करेंगे और शनि मकर राशि में मार्गी होंगे. ऐसे शुभ संयोगों से युक्त इस बार दिवाली कई राशि के जातकों की किस्मत खोल सकती है.  

यह भी पढ़ें: Dhanteras 2022: कब है धनतेरस? जानें शुभ मुहूर्त और महत्व

दीपावली का महत्व

दीपावली का पर्व बुराई पर अच्छाई की जीत के रूप में मनाया जाता है.  मान्यताओं के अनुसार, भगवान श्री राम ने लंकापति रावण पर विजय प्राप्त की थी और इस दिन वह 14 साल का वनवास पूरा कर अयोध्या वापस लौटे थे. तब से दिवाली का पर्व  भगवान राम के वापस आने के खुशी में मनाया जाता है.